निओस डीएलएड स्टडी सेंटर हाई स्कूल परिहार में असाइनमेंट में प्रशिक्षु शिक्षकों से अवैध राशि की वसूली

https://photos.app.goo.gl/uTvytco3KgMqaWWT6

असाइनमेंट के नाम पर निओस डीएलएड सेंटर हाई स्कूल परिहार में सेंटर को ऑर्डिनेटर अता करीम के कांसेप्ट से प्रशिक्षु शिक्षकों से अवैध राशि की वसूली करते साधन सेवी शिक्षक विजय कुमार ।

मालूम हो कि इस स्टडी सेंटर पर 200 अप्रशिक्षित शिक्षक प्रशिक्षणरत हैं।फर्स्ट ईयर में भी असाइनमेंट के नाम पर प्रति प्रशिक्षु शिक्षक 1500 रुपये की वसूली की गई थी और इस बार भी सेकण्ड ईयर में असाइनमेंट में 1500 की अवैध राशि वसूल की गई है।

परिहार हाई स्कूल निओस डीएलएड प्रशिक्षु शिक्षकों से असाइनमेंट में अवैध राशि लेते हुए साधन सेवी शिक्षक विजय कुमार

https://photos.app.goo.gl/ABrWo1x1YgznBm3Q9
निओस डीएलएड सेंटर हाई स्कूल परिहार सीतामढ़ी में असाइनमेंट में प्रशिक्षु शिक्षकों से अवैध राशि लेते हुए साधन सेवी (शिक्षक) विजय कुमार

सेवा से हटा दिए गए तालीमी मरकज़ सामान्य मुस्लिम की सेवा बहाल की जाए :- मोहम्मद कमरे आलम

पूरे बिहार में लग- भग 3500 तीन हज़ार पाँच सौ तालीमी मरकज़ सामान्य मुस्लिम शिक्षा सेवक को हटा दिया गया जिसमें अधिकतर संख्या मुस्लिम महिलाओं की है।सेवा समाप्ति के बाद तालीमी मरकज़ में काम कर रहे शिक्षा सेवक इंसाफ पाने के लिए दर-दर भटक रहे हैं जब कहीं से कोई इंसाफ नहीं मिला तो इंसाफ के हसूल के लिए हाई कोर्ट में याचिका दायर कर इंसाफ की राह देख रहे हैं।मालूम हो कि बिहार सरकार ने सामान्य जाति के लोगों को ये कह कर सेवा से बर्खाश्त कर दिया है कि आप सामान्य जाति के हैं इस लिए इस सेवा में नही रह सकते हैं।

बिहार सरकार महिला सशक्तिकरण, महिला समागम की बात करती है क्या मुस्लिम महिला ,महिला नहीं हैं मुस्लिम महिलाओं का सशक्तिकरण क्यों नहीं ?

मुस्लिम महिलाओं से नौकरी छीन ली गई क्या बिहार सरकार का यही महिला प्रेम है ?

बिहार सरकार अल्पसंख्यक समुदाय के विकास की बात करती है अल्पसंख्यक समुदाय के सामान्य मुस्लिम से नौकरी छीन ली क्या सामान्य मुस्लिम अल्पसंख्यक नहीं हैं ? क्या सरकार का यही अल्पसंख्यक प्रेम है ?

सरकार तो बेरोज़गारी दूर करने के लिए काम करती है और बिहार सरकार नौकरी छीन बेरोजगार कर रही है।

मैं बिहार सरकार से माँग करता हूँ सेवा से हटा दिए गए तालीमी मरकज़ सामान्य मुस्लिम की सेवा बहाल की जाए

सेवा से हटा दिए गए तालीमी मरकज़ सामान्य मुस्लिम की सेवा बहाल की जाए

उपावंटन के विरूद्ध प्रमाणित बीज का वितरण नहीं

उपावंटन के विरूद्ध प्रमाणित बीज का वितरण नहीं

सीतामढ़ी जिले के १७ प्रखंडों में रब्बी २०१८_२०१९ में गेहूं तथा दलहन/तिलहन प्रमाणित बीज वितरण हेतु ज़िला कृषि पदाधिकारी सीतामढ़ी द्वारा एक ही जाति के सिर्फ चार विक्रेता को अधिकृत किया गया है। परिहार प्रखण्ड को १३०० क्वांटल बीज का उपावंटन प्राप्त है मगर दस दिन के अन्दर सिर्फ २०० kw का वितरण किसानों के बीच किया गया है। ज़िला कृषि पदाधिकारी सीतामढ़ी और अधिकृत विक्रेता द्वारा अधिक आवंटन और कम वितरण की नीति पर चल रहे हैं।
राकेश कुमार सिंह ने मांग किया है कि बीच वितरण की निगरानी सुनिश्चित कर किसानों को सही समय पर बीज उपलब्ध करवाया जाए।

हज़रत मुहम्मद साहब के अनमोल वचन

[22/11, 11:52 AM] Tanveer Ekdandi: विधवा विवाह को आम किया
और दुनिया को नई मिसाल पेश की
#InspiredByMuhammad ﷺ
[22/11, 11:53 AM] Tanveer Ekdandi: सरकारें भ्रूण हत्या व बेटी बचाओ के नाम पर करोड़ो का फंड रिलीज़ करती है, उसमें अच्छा खासा अमाउंट लोगों की जेब भरता है।
बता दें कि मुहम्मद ﷺ ने 23 साल में पूरे अरब से भ्रूण हत्या हमेशा के लिए खत्म करवा दी थी।
#inspiredbymuhammad ﷺ
[22/11, 11:54 AM] Tanveer Ekdandi: मॉ-बाप की सेवा करो। उनके सामने ऊॅची आवाज़ से न बोलो… #InspiredByMuhammadﷺ
[22/11, 11:56 AM] Tanveer Ekdandi: पानी को व्यर्थ बर्बाद न करो भले तुम बहती नदी के किनारे क्यों ना हो।

#InspiredByMuhammadPBUH ❤️
[22/11, 11:57 AM] Tanveer Ekdandi: शादी के लिए
लड़की की मंजूरी आवश्यक ☝️🏼
#InspiredByMuhammad ﷺ
[22/11, 12:01 PM] Tanveer Ekdandi: माँ के क़दमो तलें जन्नत है!
#InspiredByMuhammad ﷺ
[22/11, 12:02 PM] Tanveer Ekdandi: मोहब्बतें बाँटो नफ़रतें नही
❤️
#InspiredByMuhammad ﷺ
[22/11, 12:03 PM] Tanveer Ekdandi: अपनी जीविका चलाने के लिए तुम चाहे जो काम करो, उसे पूरी इमानदारी से करो ☝️🏼
#InspiredByMuhammad ﷺ
[22/11, 12:04 PM] Tanveer Ekdandi: वो नबी करीम (स.अ.व.) ही हैं,
जिन्होंने शराब, ब्याज़ और जिना जैसे सामाजिक बुराईयों को हराम करार दिया !!
☝️🏼
#InspiredByMuhammad ﷺ
[22/11, 12:05 PM] Tanveer Ekdandi: सूद के लेन देन को हराम किया ☝️🏼

#InspiredByMuhammad ﷺ

देश मे किसानो की आत्म हत्या की मुख्य कारण सूद ही है!
[22/11, 12:06 PM] Tanveer Ekdandi: तुम्हारी पत्नियां तुम्हारी नौकरानी नहीं, तुम्हारी सहभागिनी हैं

उनसे अच्छा सुलूक करो और घर के कामों में हाथ बँटाओ ☝️🏼
#InspiredByMuhammad ﷺ
[22/11, 12:07 PM] Tanveer Ekdandi: बीमारों से मिला कीजिये, भूखों को खाना खिलाइए और अनाथों से प्यार कीजिये.

#InspiredByMuhammadPBUH
[22/11, 12:08 PM] Tanveer Ekdandi: औरतों के मामले में अल्लाह से डरो। तुम्हारा औरतों पर और औरतों का तुम पर अधिकार है।
औरतों के मामले में मैं तुम्हें वसीयत करता हूँ कि उनके साथ भलाई का रवैया अपनाओ ☝
#InspiredByMuhammad ﷺ
[22/11, 12:10 PM] Tanveer Ekdandi: नम्रता मनुष्य के लिए सब से अच्छा लिबास है.

#InspiredByMuhammadPBUH ❤️
[22/11, 12:12 PM] Tanveer Ekdandi: तुम्हारे ज़्यादातर अपराध तुम्हारी ज़बान की वजह से हैं।

#InspiredByMuhammadPBUH ❤️
[22/11, 12:13 PM] Tanveer Ekdandi: सभी घरों में सर्वश्रेष्ट घर वह है जहाँ एक अनाथ को प्यार और दया मिलता है.

#InspiredByMuhammadPBUH ❤️
[22/11, 12:57 PM] Mahjabeen: राजस्थान अलवर नोकरी न मिलने से हताश 6 युवक एक साथ जान देने रेल्वे ट्रेक पर पहुँचे 4 ट्रेन के आगे कूदे 3 की मौत 1 गंभीर

-बुद्धि लाल पाल

खाद्यान्न उठाव के बाद भी वितरण नहीं करने का डीलर नागमणि चौधरी पर राकेश कुमार सिंह ने लगाया आरोप

खाद्यान्न उठाव के बाद भी वितरण नहीं करने का डीलर नागमणि चौधरी पर राकेश कुमार सिंह ने लगाया आरोप

परिहार सीतामढ़ी ।खाद्यान्न उठाव के बाद भी वितरण नहीं करने का डीलर नागमणि चौधरी पर राकेश कुमार सिंह ने अनुमंडल पदाधिकारी सीतामढ़ी को आवेदन पत्र देकर आरोप लगाया है।उन्होंने आवेदन में लिखा है कि डीलर नागमणि चौधरी परिहार प्रखण्ड के पंचायतों परिहार दक्षिणी और धरहरवा का डीलर है। सितम्बर 2018 का खाद्यान्न वितरण किए ही अक्टूबर 2018का उठाव प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी परिहार की मिलीभगत से कर लिया।
उन्होंने ने आगे लिखा है कि धरहरवा पंचायत के वार्ड नम्बर 1,2, 3,4,5, में दो महीने का खाद्यान्न एक साथ दिया लेकिन AAY के 150 उपभोक्ता को खाद्यान्न नही दिया गया और वार्ड 11,12 में वितरण लम्बित रखा गया है।
उन्होंने ने लिखा है कि कालाबाज़ारी की गई खाद्यान्न के समायोजन के लिए परिहार दक्षिणी के वार्ड 1से 4 और धरहरवा के 11,12 में वितरण नही किया गया है।मालूम हो कि AAY में लग भग 300 KW के खाद्यान्न का आवंटन है जिसे लम्बित रखा गया है किरासन तेल की बिक्री 32 रुपये प्रति लीटर की जाती है।

नहीं मिला छात्र -छात्राओं को  पोशाक और छात्रवृति की राशि

नहीं मिला छात्र -छात्राओं को पोशाक और छात्रवृति की राशि

परिहार सीतामढ़ी।परिहार प्रखण्ड के प्राथमिक और मध्य विद्यालय में पढ़ने वाले छात्र – छात्राओं को आज तक वित्तीय वर्ष 2016 – 2017 ,2017 -2018 का पोशाक और छात्रवृति राशि उनके खाते में /अभिभावकों के खाते में हस्तांतरित नही की गई है।
लेकिन प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी परिहार के स्तर से कोई कार्रवाई देखने को नहीं मिल रहा है ।वरीय अधिकारियों से कई बार शिकायत की गई मगर कोई कार्रवाई अभी तक नहीं हुई।

परिहार उत्तरी पंचायत में लाखों रुपए के ग़बन की आशंका, जाँच की माँग

परिहार उत्तरी पंचायत में लाखों रुपए के ग़बन की आशंका, जाँच की माँग

परिहार(सीतामढ़ी)। प्रखण्ड के परिहार उत्तरी में लाखों रुपये के ग़बन की आशंका वक्त की गई है समाज सेवी जनाब मोहम्मद सऊद आलम ने महामहिम राज्यपाल बिहार सरकार को आवेदन देकर जाँच की माँग की है कार्रवाई के लिए 07 नवम्बर 2017 को अनशन भी किया गया था।उन्होंने अपने आवेदन सह ज्ञापन में लिखा है कि पंचायत के मुखिया और मुखिया पति पर अनुसूचित जाति प्रताड़ना अधिनियम के तहत न्याय संगत क़ानूनी कार्रवाई की जाए इन के द्वारा एक साज़िश के तहत राहत राशि से वंचित रखने की कोशिश की गई।
वर्ष 2011से 2017 तक पंचायत में कराए गए कार्यों की जाँच निगरानी से कराई जाए।
घटिया नाला निर्माण की जाँच अभियंताओं की टीम गठित कर की जाए और भुगतान पर रोक लगाया जाए क्योंकि नाला निर्माण में घटिया सामग्रियों का प्रयोग किया गया है और प्राक्कलन का अनुपालन नही किया गया है और न ही कार्य स्थल पर कार्य का बोर्ड लगाया गया है।
मसहा में घटिया क़ब्रिस्तान घेराबन्दी की निगरानी जाँच हो और अपूर्ण घेराबन्दी को पूर्ण कराया जाए।

वर्ष 2011 से अब तक कबीर अंत्येष्टि के राशि की जाँच कराई जाए कफन की राशि भी मुखिया द्वारा गबन कर मृतक के आश्रित को वंचित रखा गया है।

वर्ष 2012 से अबतक परिहार उत्तरी पंचायत में 13वी,14वी चतुर्थ वित्त, BRGF,योजना अन्तर्गत आवंटित राशि की जाँच कराई जाए।पंचायत को उक्त मदों में क्रमशः 70 लाख,4.50 लाख,3.50 लाख, 14 लाख की राशि पंचायत को मिली मगर पंचायत में सिर्फ दो कार्य 700 फिट का पीसीसी सड़क निर्माण किया गया है और सम्पूर्ण राशि निकाल ग़बन कर ली गई है।

Watch “अपना वोट धर्म मज़हब के नाम पर न दें ,इंसानियत को बचाने वाले को दें” on YouTube

मध्याह्न भोजन योजना प्रभारी इंद्रेश मंडल द्वारा खाद्यन्न की काला बाज़ारी के आड़ में दलीय कार्यकर्ताओं को अपमानित कर मनोबल को खंडित किया जा रहा है

मध्याह्न भोजन योजना प्रभारी इंद्रेश मंडल द्वारा खाद्यन्न की काला बाज़ारी के आड़ में दलीय कार्यकर्ताओं को अपमानित कर मनोबल को खंडित किया जा रहा है

परिहर सीतामढ़ी मध्याह्न भोजन योजना प्रभारी इंद्रेश मंडल द्वारा खाद्यन्न की काला बाज़ारी के आड़ में दलीय कार्यकर्ताओं को अपमानित कर मनोबल को खंडित किया जा रहा है इस सम्बंध में मोहम्मद यूसुफ अध्यक्ष पंचायती राज प्रकोष्ट जनता दल यू परिहार सीतामढ़ी ने मुख्यमंत्री बिहार, प्रदेश अध्यक्ष जनता दल यू और ज़िला अध्यक्ष जनता दल यू सीतामढ़ी को लिखित शिकायत पत्र देकर कार्रवाई की माँग किया है।
आवेदन में इन्होंने लिखा है कि साधन सेवी इंद्रेश मंडल परिहार प्रखण्ड में तीसरी बार पदस्थापित किए गए हैं। ज़िला में DPO MDM प्रभारी दस वर्षों से पदस्थापित हैं। साधन सेवी अपने पदस्थापना समय से ही विद्यालयों के प्रधान से मिली भगत कर आवंटन का आधा चावल काला बाज़ारी कर दिया जाता है।
विगत सितम्बर 2018 में परवाह बाजार में छापे में MDM का चावल बरामद हुआ था और परिहार थाना में थाना काण्ड संख्या 114/2018 दर्ज किया गया था।MDM के काला बाज़ारी का मुद्दा पंचायत समिति के बैठक में भी उठाया गया था।
साधन सेवी के द्वारा किया जा रहा चावल काला बाज़ारी का धंधा बेरोक टोक चलता रहे इसी नियत से जिला पदाधिकारी, ज़िला कार्यक्रम पदाधिकारी सीतामढ़ी को आवेदन देकर साधन सेवी ने दलीय कार्यकर्ताओं पर गंभीर आरोप लगा कर अपमानित करने का काम किया गया है ताकि इसके काला बाज़ारी के विरुद्ध कोई आवाज़ बुलन्द न कर सके।

माननीय मुख्यमंत्री बिहार के नाम खुला पत्र

सेवा में,
माननीय मुख्यमंत्री
बिहार सरकार पटना
माननीय शिक्षा मंत्री
बिहार सरकार पटना
मुख्य सचिव, बिहार सरकार पटना
प्रधान सचिव, शिक्षा विभाग
बिहार सरकार पटना
विषय:-निदेशक जन शिक्षा, शिक्षा विभाग बिहार पटना के पत्रांक 1088 दिनांक 19.05.2018 को निरस्त करने एवं अल्पसंख्यक सामान्य जाति तालिमी मरकज़ शिक्षा स्वंय सेवक के सेवा को बहाल रखने के संबंध में।
महाशय,
निवेदन पूर्वक कहना है कि

तालिमी मरकज़ में नियमतः बहाल अल्पसंख्यक मुस्लिम सामान्य ज़ाति शिक्षा स्वयं सेवी को निदेशक जन शिक्षा,शिक्षा विभाग बिहार पटना ने मुखर आदेश निर्गत कर सेवा मुक्त करने का आदेश अपने पत्रांक 1088 दिनांक 19.05.2018 के द्वारा ज़िला कार्यक्रम पदाधिकारी साक्षरता सीतामढ़ी को दिया गया है।
साथ ही ज्ञापंक 1098 दिनांक 22.05.2018 निर्गत कर सभी जिला कार्यक्रम पदाधिकारी साक्षरता को अल्पसंख्यक सामान्य जाति के शिक्षा स्वयं सेवक को सेवा मुक्त करने का आदेश दिया है।
महाशय,
बिहार में वर्ष 2008 में मुस्लिम समुदाय के 6 से 10 वर्ष के विद्यालय से बाहर के बच्चों को मुख्य धारा की शिक्षा प्रदान करने के लिए बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के ” वैकल्पिक एवं नवाचारी शिक्षा कार्यक्रम “, अंतर्गत तालिमी मरकज़ का प्रारंभ किया गया था और तालिमी मरकज़ में नामांकित बच्चों को मुख्य धारा की शिक्षा देने के लिए शिक्षा स्वयं सेवक की बहाली की गई थी। बिहार शिक्षा परियोजना परिषद पटना ने शिक्षा स्वयं सेवक की बहाली के लिए मार्गदर्शिका तैयार किया था और अपने पत्रांक:- AIE/92/2008-09 5344 दिनांक 13.10.2008 के साथ संलग्न कर बिहार के सभी जिला शिक्षा अधीक्षक- सह -ज़िला कार्यक्रम समन्वयक को भेजा गया था ।तालिमी मरकज़ के उक्त मार्गदर्शिका में स्पष्ट था कि मुस्लिम समुदाय के सभी बच्चों को प्रारम्भिक शिक्षा सुनिश्चित करने हेतु “”सामाजिक तथा आर्थिक”” रूप से अत्यंत पिछड़े मुस्लिम समुदाय के प्रत्येक गाँव टोला में तालिमी मरकज़ प्रारम्भ किया जाएगा। शिक्षा स्वयं सेवक के चयन में मार्गदर्शिका के कंडिका 5 में स्पष्ट अंकित था कि स्वयं सेवक आवश्यक रूप से “”सामाजिक तथा आर्थिक”” रूप से अत्यंत पिछड़े मुस्लिम समुदाय से लिये जाएंगे तथा संचालित मरकज़ के गाँव टोले से प्राथमिकता के तौर पर लिए जाएंगे। निर्गत मार्गदर्शिका में कहीं भी अंकित नही था कि परिशिष्ट-1में दर्ज सभी मुस्लिम जातियों के आवेदक का ही चयन शिक्षा स्वयं सेवक के रूप में किया जाएगा।मार्गदर्शिका में निहित प्रावधान के मुताबिक शिक्षा स्वयं सेवक के रूप में अल्पसंख्यक मुस्लिम समुदाय के सामान्य जातियों के आवेदक का चयन किया गया और प्रशिक्षण देकर तालिमी मरकज़ का संचालन प्रारंभ किया गया था।चयन प्रक्रिया सम्पन्न होने के लग – भग एक साल 5 महीने बाद वर्ष 2009 में बिहार शिक्षा परियोजना परिषद पटना ने 2008 में निर्गत मार्गदर्शिका में पत्रांक TM/AIE/92/2008-09 3982 दिनांक 14.08.2009 के द्वारा संशोधन किया गया और कहा कि तालिमी मरकज़ में स्वयं सेवक का चयन परिशिष्ट -1 में सम्मिलित मुस्लिम जातियों का ही चयन किया जाएगा । परन्तु अल्प मानदेय होने के कारण अभ्यर्थियों के कमी होने के कारण डायरेक्टर बिहार शिक्षा परियोजना परिषद पटना से मार्गदर्शन प्राप्त होने के बाद अल्पसंख्यक मुस्लिम सामान्य जातिओं का भी उक्त योजना में नियोजन किया गया।
अंकनिय है कि मार्गदर्शिका 2009 को ही आधार बनाकर निदेशक जन शिक्षा, शिक्षा विभाग बिहार पटना ने मार्गदर्शिका 2008 के मुताबिक बहाल मुस्लिम समुदाय के सामान्य जातियों के शिक्षा स्वयं सेवकों को भी सेवा मुक्त करने का आदेश जारी कर दिया है जो नियमतः ग़लत है।विदित हो कि
वर्ष 2009 में संशोधित तालिमी मरकज़ मार्गदर्शिका जारी होने के बाद तत्कालीन जिला शिक्षा अधीक्षक सह ज़िला कार्यक्रम समन्वयक सीतामढ़ी ने राज्य परियोजना निदेशक ,बिहार शिक्षा परियोजना परिषद पटना से मार्गदर्शन माँगा था कि तालिमी मरकज़ मार्गदर्शिका 2008 के मुताबिक आर्थिक रूप से पिछड़े मुस्लिम समुदाय के सामान्य जाति के आवेदक जिनका नियोजन तालिमी मरकज़ शिक्षा स्वयं सेवक के रूप में किया गया है उनका क्या जाए तो निदेशक ने मार्गदर्शन दिया था कि उनको प्रशिक्षण देकर तालिमी मरकज़ का संचालन किया जाए ।मार्गर्दशन प्राप्ति के बाद ज़िला पदाधिकारी से अनुमोदन प्राप्त कर नियोजित शिक्षा स्वयं सेवकों को प्रशिक्षण दिया गया और केंद्र संचालित किया गया था।मार्गदर्शन से संबंधित निदेशक का पत्र परियोजना कार्यालय के संचिका में उप्लब्ध है।
तालिमी मरकज़ का स्वरूप अस्थाई व्यवस्था के रूप में रहा जिसे दो वर्ष की अवधि पूरा करने पर बन्द करने का प्रावधान था।
बिहार शिक्षा परियोजना परिषद पटना को उक्त योजना के संचालन हेतु वर्ष 2012 में भारत सरकार द्वारा अनुदान देना बन्द कर दिया गया तो

10 दिसम्बर 2012 से तालिमी मरकज़ का संचालन बिहार सरकार के आदेश से जन शिक्षा निदेशालय शिक्षा विभाग के अधीन कर दिया गया और राज्य संपोषित ” महादलित, अल्पसंख्यक एवं अतिपिछड़ा वर्ग अक्षर आंचल योजना का प्रारंभ कर तालिमी मरकज़ शिक्षा स्वयं सेवी को इस योजना में योगदान करवा कर कार्य लिया जा रहा है । तत्कालीन प्रधान सचिव शिक्षा विभाग अमर जीत सिन्हा ने पत्रांक-13/सा-18/2012 2670 दिनांक 03.12.2012 निर्गत किया था पत्र के टोला सेवक एवं शिक्षा स्वयं सेवी की पहचान में स्पष्ट रूप में अंकित है कि राज्य स्तर पर यह निर्णय लिया गया है कि पूर्व के उत्थान केंद के टोला सेवक एवं तालिमी मरकज़ के शिक्षा स्वंय सेवी इस योजना में वी टी(शिक्षा स्वयं सेवक) का कार्य करेंगे।उक्त पत्र के आलोक में ही तालिमी मरकज़ के शिक्षा स्वयं सेवकों को उक्त योजना में योगदान करवाया गया और कार्य लिया जा रहा है।
3. “” मुस्लिम महिला तालिमी मुहिम “” परिपत्र के कंडिका 2 से स्पष्ट है कि तालिमी मरकज़ सम्पूर्ण मुस्लिम समुदाय के लिए खोल दिया गया।सम्पूर्ण मुस्लिम समुदाय के लिए खोल दिया गया तो बिहार शिक्षा परियोज परिषद पटना द्वारा इस सम्बंध में परिपत्र भी निर्गत किया गया होगा।
अतः ये कहना कि उक्त योजना सिर्फ परिशिष्ट 1 में सम्मिलित मुस्लिम जातियों के लिए ही है, परिपत्र को नकारने जैसा है।

बिहार सरकार शिक्षा विभाग के “मुस्लिम महिला तालिमी मुहिम ” परिपत्र के कंडिका 2 में अंकित है कि मुस्लिम समुदाय के सामाजिक तथा शैक्षणिक रूप से अतिपिछड़े (परिशिष्ट 1) सभी मुस्लिम जातियों के बीच तालिमी मरकज़ पहल प्रारंभ किया गया जिसे बाद में सम्पूर्ण मुस्लिम समुदायों के लिए खोल दिया गया।उस के बावजूद निदेशक जन शिक्षा ने मुस्लिम समुदाय के सामान्य जाति के शिक्षा स्वयं सेवकों को सेवा मुक्त करने का आदेश जारी कर दिया है।जिसके अनुपालन में ज़िला कार्यक्रम पदाधिकारी साक्षरता द्वारा अल्पसंख्यक सामान्य जाति के शिक्षा स्वयं सेवक की सेवा समाप्त कर दी गई है।
महादलित अल्पसंख्यक एवं अत्यंत पिछड़ा वर्ग अक्षर आँचल योजना को मुस्लिमों में सिर्फ परिशिष्ट1 में सम्मिलित मुस्लिम जातिओं के लिए आरक्षित करना शिक्षा का अधिकार अधिनियम का उल्लंघन है ।

“” महादलित अल्पसंख्यक एवं अत्यंत पिछड़ा वर्ग अक्षर आँचल योजना “” को मुस्लिमों में सिर्फ परिशिष्ट 1 में सम्मिलित मुस्लिम जातिओं के लिए आरक्षित कर देना शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 का उल्लंघन है ।
राज्य सरकार द्वारा परिभाषित शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अंतर्गत अभवंचित समूह में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अत्यंत पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक समुदाय को रखा गया है।उक्त योजना को परिशिष्ट 1 में सम्मिलित मुस्लिम जातिओं के लिए आरक्षित कर अल्पसंख्यक सामान्य जाति को लाभ से वंचित कर दिया गया है जो शिक्षा का अधिकार अधिनियम में परिभाषित अल्पसंख्यक समुदाय को मिले अधिकार का उलंघन है क्योंकि सामान्य मुस्लिम भी अल्पसंख्यक हैं।
अतः माननीय/श्रीमान से अनुरोध है कि निदेशक के उक्त निर्गत पत्र को निरस्त करते हुए अल्पसंख्यक सामान्य जाति के शिक्षा स्वयं सेवक के सेवामुक्त करने की कार्रवाई से संबंधित पत्र को निरस्त किया जाए एवं अल्पसंख्यक सामान्य जाति की सेवा बहाल रखने का निदेश शिक्षा विभाग को देने की कृपा करें।

विश्वास भाजन

मोहम्मद कमरे आलम
शिक्षा स्वयं सेवक
एकडण्डी, परिहार, सीतामढ़ी
पिन 843324 बिहार
मोबाइल 9199320345

ज़ात के नाम पर तालीमी मरकज़ की तक़सीम मुस्लिम बच्चों के मुस्तक़बिल के साथ खिलवाड़ है

प्रभात खबर सीतामढ़ी संस्करण के पेज नंबर 4 पर शीर्षक काम के एवज भुगतान लिया, फिर भी किया शिकायत ” पर ईमेल भेजकर आपत्ति जताई

प्रिय महोदय,
आपके दैनिक समाचार पत्र प्रभात खबर सीतामढ़ी संस्करण में दिनांक 31/10/2018 पेज नंबर 04 पर छपे ख़बर शीर्षक “” काम के एवज में भुगतान लिया, फिर भी की शिकायत “” पर आपत्ति दर्ज करता हूँऔर इसका खण्डन करता हूँ।
मान्यवर भुगतान लेने के बाद नही भुगतान नही मिलने पर गत वर्ष 17/06/2017 को राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग नई दिल्ली में शिकायत दर्ज किया था जिस पर आयोग ने 11/07/2017 को ही उचित कार्रवाई का आदेश ज़िला पदाधिकारी सीतामढ़ी को दिया था। भुगतान तो 06 जुलाई 2018 को किया गया है।
मेरा अनुरोध है कि तथ्य को तोड़ – मरोड़ कर प्रकाशित न किया जाए और पीत पत्रकारिता से बचा जाए। और आप से आशा करता हूँ कि खण्डन रिपोट प्रकाशित करेंगें।

मोहम्मद कमरे आलम

एकडण्डी, परिहार, सीतामढ़ी
9199320345

तालिमी मरकज़ से हटाए गए तालीमी खिदमतगार की मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार सिंह से अपील

अभिनंदन समारोह आयोजित

पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत परिहार कांग्रेस कमिटी के कार्यकारी अध्यक्ष मो सउद आलम के अध्यक्षता में उनके आवास एकडंडी परिहार प्रखंड कांग्रेस कार्यलय में अभिनंदन समारोह प्रोग्राम का आयोजन किया गया जिस में कार्यकारी अध्यक्ष मो सउद आलम ने अपने प्रखंड कांग्रेस कमिटी का विस्तार किया गया और अपने पदाधिकारियों को फूल माना पहना कर सभी को

समानित किया गया पद पाने वाले में श्री (1)रामा शंकर गुप्ता प्रखंड प्रधान सचिव (2) मुन्नी खातून प्रखंड सचिव (3) मो तमन्ने आलम प्रखंड उप अध्यक्ष (4) मो जमील अख्तर मन्सूरी प्रखंड सचिव इन सभी सदस्यों को समानित किया गया और इस सभा को संबोधित करते हुए सउद आलम साहब ने कहा की अपने सभी कार्यकर्ताओ को की श्री राहुल गांधी जी को प्रधानमंत्री बनाने के और 2019 के लोकसभा चुनाव तैयारी में एक जुट हो जाइये और बूथ स्तर तक कार्यकर्ताओं को जागरूक कीजिये और मोदी सरकार के नाकामियो को आम जनताओं तक पहुँचाइये और परिहार प्रखंड वाशियो को दुर्गा पूजा की हार्दिक बधाई दी गई और लोगो से अपील किये और शांति पूर्ण तरीके से दशहरा पर्व को मनाने की अपील की।

Watch “मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार सिंह से कमरे आलम की गुजारिश” on YouTube

डीजल की कीमत में बृद्धि के अनुपात में यात्री भाड़ा तिगुना बृद्धि किया जाना सरासर अन्याय व् शोषण है :- नागेंद्र कुमार पासवान

नागेन्द्र कुमार पासवान भारतीय मजदूर संघ सीतामढ़ी माननीय मुख्यमन्त्र , प्रधान सचिव,परिवहन विभाग,बिहार,सभी प्रमण्डलीय आयुक्त
,सभी जिला पदाधिकारी ,सभी जिला परिवहन पदाधिकारी को को आवेदन दे कर विरोध दर्ज करवा है उन्होंने लिखा है कि बिहार मोटर ट्रांस्पोटर फेडरेशन द्वारा मनमानी तरीके से बस यात्री भाड़ा में अप्रत्याशित बृद्धि कर दी गई है जिससे आम यात्री में असन्तोष एवम् आक्रोश व्याप्त है।डीजल की कीमत में बृद्धि के अनुपात में यात्री भाड़ा तिगुना बृद्धि किया गया है जो सरासर अन्याय व् शोषण है।उन्होंने मोटर ट्रांसपोर्ट फेडरेश एवम् शासन के साथ मिल बैठकर जनहीत में समुचित भाड़ा निर्धारित किए जाने की माँग की है ताकि निजी बस मालिकों के शोसन से आम जन को निजात मिल सके।